Go to ...
RSS Feed

India

बिगड़ते भारत के बोल

भाषा  एक  पहचान  होती  है,किसी  देश  की  प्रगति   की,विकास  की,नई  ऊंचाइयों  को  छूने  की, नई  ऊर्जा  का  प्रवाह करने  नई  ताक़त  देने  की,पर  अपने  निजी  स्वार्थ  की  इससे  ज्यादा  पराकाष्ठा  क्या होगी  जो  अभी  हम  सब देख  रहे है। उत्तर  प्रदेश  के  चुनावी  रंग  को  देख   कर  आज  ऐसा   लग  रहा  है   की  मेरे  देश 

Close